TekFog App : जानिए क्या है टेकफोग, Download tekfog app - The Allah

TekFog App : जानिए क्या है टेकफोग, Download tekfog app

वामपंथी वेब पोर्टल ने बीते दिन एक आर्टिकल में Tekfog नामक app का जिक्र किया और बताया कि उन्होंने एक खुफिया शोध किया है जिसकी जानकारी खुद उन्हें भी नही है, और इसी खुफिया शोध में उन्हें टेकफोग नामक app की जानकारी मिली इस एप्प में काफी ऐसी काबिलियत है जो कि असम्भव हैं पर इस एप्प में है यानी ये app एक सुपर पावर app है। 

Tekfog app download


क्या है Tekfog app ?

द वायर नामक वामपंथी रिपोर्टर ने अपने आर्टिकल में बताया कि इस एप में नकली व्हाट्सएप अकाउंट बनाने की काबिलियत है नकली टि्वटर अकाउंट और नकली फेसबुक अकाउंट बनाने की काबिलियत है यह एक एक सेकंड में लाखों व्हाट्सएप अकाउंट बना सकता है हालांकि तथ्यों के मुताबिक यह सब फर्जी और असंभव कल्पना है।

 द वायर नामक यह वामपंथी पोर्टल जो इस काल्पनिक ऐप की इन खूबियों का दावा कर रहा है वह अभी तक इस ऐप के वास्तव में होने के किसी भी उदाहरण को भी पेश नहीं कर सका है।

 द वायर ने अभी तक यह नहीं बताया उन्होंने यह ऐप कहां देखा और क्या इसका नमूना वह पब्लिक कर सकते हैं आपके मन में भी सवाल उठ रहा होगा कि जिस ऐप का कोई अस्तित्व है ही नहीं तो उस ऐप के बारे में द वायर ने कहानी कहां से बना दी।

 असल मे यह काल्पनिक ऐप है जो असल में है ही नहीं और ना ही कभी था परंतु चुनावी माहौल है इसीलिए वामपंथियों ने सत्ताधारी पार्टी के ऊपर एक लांछन लगाने के लिए अपने मन मुताबिक एक काल्पनिक ऐड की कल्पना की और बता दिया कि इस ऐप का इस्तेमाल बेवकूफ जनता पार्टी करती है।

The wire यानी The लायर

अपने आर्टिकल में द वायर ने हमेशा से ही दूसरों के नाम से ही सब कुछ लिखा है और इस काल्पनिक ऐप की परिकल्पना में द वायर ने कुछ व्यक्तियों के नाम से दावा किया कि फलाने व्यक्तियों ने फलाने व्यक्तियों के शोध के अनुसार हमें बताया है कि इस ऐप का अस्तित्व है और यहां रोचक बात यह हुई क्यों न फलाने फलाने व्यक्तियों ने ही द वायर को झूठा कहते हुए यह कह दिया ऐसा कोई ऐप कभी था ही नहीं और मैंने ऐसा कोई दावा नहीं किया मेरे नाम का तो झूठा दुरुपयोग किया है।

चूतिया काटने की निंजा टेक्निक

वामपंथियों के पास इमानदारी हो ना हो लेकिन उनके पास जन्मजात निंजा टेक्निक मौजूद है चुटिया काटने की निंजा टेक्निक मौजूद है, इस तकनीक के माध्यम से वह अपने पाठकों का मुहूर्त चुटिया काटते रहते हैं।

हमने बहुत प्रयास किया हालांकि द वायर के पाठकों ने भी यही बहुत प्रयास किया होगा कि किसी प्रकार हमें टेकफोग एप की एपीके फाइल आईएसओ फाइल या फिर किसी प्रकार की स्क्रिप्ट तक मिल जाए जिसके माध्यम से हम भी उसका एक नमूना तो देख सकें परंतु ऐसा कुछ नहीं मिला।

इस काल्पनिक ऐप की कल्पना करने वाले द वयर के लेखकों ने भी इस ऐप का जरा सा भी उपयोग किए जाने का दावा तक नहीं किया है यानी उन लोगों ने भी इस ऐप का उपयोग नहीं देखा इस ऐप की अस्तित्व को सिद्ध करने वाली एक भी चीज ना देखने के बावजूद उन्होंने दो-तीन हजार शब्दों का एक लंबा चौड़ा आर्टिकल और खूब सारा एडवर्टाइजमेंट करके अपने आर्टिकल को अपने पाठकों के सामने पेश करके उनका चुटिया अच्छे से काटा है।

Add your comment